हाकी की तल्खियां बन गई सुर्खियां : दैनिक डीएलए में 29 सितम्‍बर 2011 के अंक में प्रकाशित


पब्लिक थी बेहाल, जादू की छड़ी ने किया कमाल : दैनिक हिंदी मिलाप में 29 सितम्‍बर 2011 के अंक में प्रकाशित


शेर जो न डरे और न मरे : डीएलए में 27 सितम्‍बर 2011 के अंक में प्रकाशित






पब्लिक को जादू की छड़ी मुबारक : दैनिक जनवाणी में 27 सितम्‍बर 2011 को प्रकाशित

पब्लिक को जादू की छड़ी मुबारक पढ़ने के लिए यहां पर क्लिक कीजिए

दैनिक जागरण के राष्‍ट्रीय संस्‍करण में अभिव्‍यक्ति से एक रचना भिखारियों से सहूलियत


वोटर का कैरेक्‍टर सबसे ढीला है : दैनिक लोकसत्‍य में 26 सितम्‍बर 2011 को प्रकाशित व्‍यंग्‍य


अमिताभ अमर संवाद : दैनिक हिंदी मिलाप में 24 सितम्‍बर 2011 के अंक में प्रकाशित


बड़े-छोटे संवाद : दैनिक जनसंदेश टाइम्‍स में 24 सितम्‍बर 2011 के अंक में प्रकाशित


तल्खियां बन गई सुर्खियां : दैनिक जनवाणी 20 सितम्‍बर 2011 में प्रकाशित व्‍यंग्‍य


आइए इस देश में मास्‍टर बन कर देखें : पीपुल्‍स समाचार में 20 सितम्‍बर 2011 को प्रकाशित


काला नहीं, चोखा है नाव का धंधा : डीएलए में 20 सितम्‍बर 2011 के अंक में प्रकाशित व्‍यंग्‍य


घर-घर की सुरक्षा के मंत्री हैं क्‍या हमारे होम मिनिस्‍टर : दैनिक हिंदी मिलाप में 14 सितम्‍बर 2011 को प्रकाशित


सुरक्षा गार्ड हैं क्‍या होम मिनिस्‍टर हमारे : डीएलए में 16 सितम्‍बर 2011 के अंक में प्रकाशित


अपना ब्‍लॉग एग्रीगेटर : लीगेसी इंडिया अगस्‍त 2011 के ब्‍लॉगरी अंक में प्रकाशित


मास्‍टर मिनिस्‍टर कंडक्‍टर कैसे एक समान : नई दुनिया 12 सितम्‍बर 2011 अंक में प्रकाशित


सच्‍चे प्‍यार की निशानी, गर्म कानों की कहानी है : वटवृक्ष पत्रिका के अगस्‍त 2011 के प्रेम विशेषांक में प्रकाशित



अन्‍नालीला में घोंटूलाला की प्रशस्ति : डीएलए में 8 सितम्‍बर 2011 को प्रकाशित



मास्‍टर मिनिस्‍टर कंडक्‍टर ... : डीएलए में 6 सितम्‍बर 2011 के अंक में प्रकाशित


वोटर का कैरेक्‍टर सबसे ढीला है : दैनिक जनवाणी में 6 सितम्‍बर 2011 के अंक में संपादकीय पेज पर प्रकाशित