मानवीय संवेदनाओं को झिंझोड़ते अविनाश वाचस्‍पति : दैनिक जनसंदेश टाइम्‍स में ब्‍लॉगवाणी स्‍तंभ में 13 अप्रैल 2011 को प्रकाशित

भ्रष्‍टाचार बेचारा : दैनिक जनसंदेश टाइम्‍स के 13 अप्रैल 2011 के उलटबांसी स्‍तंभ में प्रकाशित

कुट्टू का कोहराम : आई नेक्‍स्‍ट 12 अप्रैल 2011 के अंक में खूब कही स्‍तंभ में प्रकाशित

भ्रष्‍टाचार के मुंह पर अन्‍ना का जूता - डीएलए में 12 अप्रैल 2011 के अंक में प्रकाशित

कुट्टू का कोहराम कुट्टू के आटे ने कहर बरपा कर डाला. कुछ को जान से मारा और कइयों को घायल कर दिया. कुट्टू के कोहराम की खबरें सुर्खियों में हैं, चैनलों में सनसनी, वारदात जैसे कार्यक्रमों में उसके कारनामों का ढोल पीट-पीट कर टीआरपी बढ़ाई जा रही है. इस समय दो ही खबरें सुर्खियों में हैं जिसने क्रिकेट की कप विजय की खबर को भी करारी मात दे दी है. एक अन्ना दूसरे कुट्टू. विश्वस्त सूत्रों से खबर मिली है कि कुट्टू के आटे को सजा-ए-मौत सुनाई गई है. ऐसा एक सत्ता हथियाए नवोदित नेता ने आनन-फानन में बिना सोचे समझे जारी एक बयान में कहा है. उसने यह भी कहा है कि सभी चैनलों और मीडिया माध्यमों पर मेरे बयान को तुरंत प्रसारित कर दिया जाए, जिससे अन्य आटे सिर न उठा सकें. उसने मीडिया ब्लॉगों पर भी अपना बयान जारी करवाने की असफल कोशिश की है. कुट्टू के आटे को मौत की सजा सुनाए जाने से गेहूं के आटे के नेतृत्व में बाजरे, मकई, सिंघाड़े इत्यादि के आटे एकजुट होने लगे हैं, वे बुरी तरह नाराजगी प्रकट कर रहे हैं. सिंघाड़े के आटे का कहना है कि इंसानी करतूतों के लिए कुट्टू के आटे को सजा सुनाए जाने की इंसानी कूटनीति की निंदा की जाती है. मिलावट इंसान करता है और सजा हम मासूमों को मिलती है, जबकि हम तो सदा से व्रत हो या न हो, सभी दिन समस्त इंसानों के पेट की पूजा सभी रेटों में पवित्र भाव से करते रहे हैं. अनुभवी स्वास्थ्य मंत्री की कोशिश है कि कुट्टू के आटे को बचा लिया जाए क्योंकि इससे स्थिति बिगड़ने की संभावना है और उन्होंने कुट्टू के आटे के सेवन से हुई मौत को हाइपरटेंशन के नाम से जोड़ दिया है. बीमारियां तो पहले से ही इंसान की जान लेने के लिए यूं ही सदा बदनाम रही हैं. इधर कुट्टू का आटा दहशत में है और दुकानों से फरार हो गया है और औचक छापों में भी वो बरामद नहीं किया जा सका. लेकिन इतना तय है कि इस फरारी में अन्य आटों की मिलीभगत नहीं है. इंसान ने ही सबूत मिटाने के लिए इन्हें गायब करवा दिया होगा. होम मिनिस्टर की नाराजगी के कारण पुलिस के आला अधिकारी हरकत में आ गए हैं और ऐसी करामात कर बैठे हैं जिसके लिए वे सदा से ही बदनाम रहे हैं. उन्होंने गेहूं के ब्रांडेड आटों को इस लालच में गैर-कानूनी रूप से धर लिया है कि इससे या तो कुट्टू का आटा खुद ही सरेंडर कर देगा और उसने सरेंडर नहीं किया तो जिन कंपनियों के आटे हैं, उन कंपनियों से वे मोटी वसूली कर पायेंगे. पुलिस की इस कार्रवाई को पेड मीडिया के माध्यम से, नेताओं ने, अपने हालिया बयानों के जरिये एक बेहतरीन कार्रवाई बतलाया है और पुलिस के इस कदम की प्रशंसा के लिए, उस किस्म के पुल बांध दिये हैं जो तुरंत ही ढह भी जायेंगे. पर वे ऐसा करने के लिए इसलिए विवश हैं क्योंकि वे अन्ना हजारे को दिखला देना चाहते हैं कि भ्रष्टाचारी चाहे इंसान हो या आटा किसी को बख्शा नहीं जाएगा.

कुट्टू के आटे को सज़ा-ए-मौत : हिन्‍दी मिलाप 12 अप्रैल 2011 में बैठे ठाले

ब्लॉगर मीट में जिसका नाम है FIND RAJASTHAN

आप सभी आमंत्रित हैं
रानी जिला पाली राजस्थान मैं दिनांक 1 व 2 मई को आयोजित होने वाले ब्लॉगर मीट में जिसका नाम है FIND RAJASTHAN

इसमें प्रथम दिवस में आने के बाद आराम विश्राम के पश्चात परिचय सत्र का आयोजन किया जायेगा, इसके पश्चात रात्रि के समय एक गोष्ठी होगी जिसमे कुछ ज्वलंत मुद्दों पर आप सभी ब्लागरों से चर्चा की जायेगी


दुसरे दिन नजदीकी भ्रमण स्थान रणकपुर जैन मंदिर जो की विश्व प्रशिद्ध है का भ्रमण किया जायेगा .
नजदीकी रेलवे स्टेशन रानी और फालना है जयपुर दिल्ली और मुंबई तक से सीधी ट्रेन सुविधा है साथ ही बिहार और उत्तर प्रदेश से भी कई ट्रेने चलती है
आप केवल अपना स्थान बता दीजिये पूर्ण ट्रेन की समय सारणी भिजवा दी जाएगी


कृपया कर आने वाले ब्लॉगर अपना नाम दिनांक 25 अप्रेल तक दे देवें ताकि कार्यक्रम की रुपरेखा प्रकाशित हो सके
संपर्क करें bloggermeet@naradnetwork.in
tarun@naradnetwork.in
Mobile No. 9251610562

JAI HIND

रेल पटरियों पर जाटों की खाट : प्रभात खबर ने 19 मार्च 2011 अंक में

मूर्खों की बनाई वेबकुल्‍फी : दैनिक हरिभूमि 1 अप्रैल 2011

मूर्ख दिवस पर वेबकुल्फियों की जायकेदार चुस्कियां : हिन्‍दी मिलाप दैनिक 1 अप्रैल 2011